हेलो मे रेखा फ्रॉम भोपाल. आज पहली बार अपनी चुदाई स्टोरी लेकर आपकी सेवा मे हाज़िर हू. मेरी फिगर 34-32-34 है और मे दिखने मे गोरी ही हाइट 5. 6 है. मे २१त की स्टूडेंट हू और ये कहानी कुछ दिन पहले की है. ये कहानी मेरी पहली चुदाई की है जब मम्मी के बॉस ने मेरी सील तोड़ी और मुझे चुदक्कद बना दिया.

1 23

उस वक़्त मे सेक्स के बारे मे आछे से जानती थी लेकिन कभी की नही थी. मेरी मम्मी एक प्राइवेट कंपनी मे काम करती है और उनकी सॅलरी भी ठीक ठक है. मेरे पापा दूसरे सिटी मे रहते है. और कभी कभार ही घर आते है जिस से मम्मी ज़यादा सेक्स नही कर पति और इसलिए शायद संतुष्ट नही थी.

मम्मी और उनके बॉस आछे दोस्त भी थे और वो अक्सर मेरे घर आया करते थे. एक रात मे सो कर उठी तो मम्मी के रूम से कुछ आवाज़ आ रही थी. मे टाइम देखी तो 12 बाज रहा था. मुझे लगा पापा है तो मे उनके रूम जाने लगी लेकिन डोर लॉक था.

मे वही खड़े होकर सुन ने लगी. ध्यान से सुन ने के बाद पता चल गया की ये बॉस अंकल की आवाज़ है. मे समझ गई की अंदर कुछ चल रहा है मे ख़िड़ी के पास गयइ तो खिड़की ओपन थी. थोड़ा सा खिड़की खोली और देखने लगी मे अंदर के हालात देखकर चौक गयी.

अंदर मेरी मम्मी पूरी नंगी थी और बॉस अंकल के लंड चूस रही थी. पहली बार किसी लंड के दर्शन हुए थे.

अंदर मम्मी आछे से चूस रही थी और अंकल मम्मी के बूब्स दबा रहे थे मे उस वक़्त नाइटी मे थी तो मे भी अंदर हाथ डालकर अपना बूब्स दबाने लगी मुझे मज़ा आने लगा एक अज़ीब सा एहसास होने लगा.

फिर अंदर देखी तो बॉस अंकल मम्मी की चूत चॅट रहे थे और कभी कभी उंगली डाल रहे थे तो मम्मी श आअह्ह चिल्ला रही थी. ये देखकर कभी भी अपना उंगली अपने चूत के अंदर डालने लगी पर आछे से नही गया पर अंदर उंगली डालने पर बहुत आछा लगा.

मे अपने चूत मे उंगली डाल रही थी और उनकी चुदाई देख रही थी अंकल का लंड बहुत बड़ा था अब मम्मी को लेटा कर अंकल उनके उपर लेट गये और उन्हे चुदाई करने लगे उधर मम्मी आहा अया आह अया ओह्ह्ह कर रही थी और इधर मे भी गरम हो रही थी.

थोड़ी देर बाद अंकल उठ गये और मम्मी भी उठ गयी फिर मम्मी घोड़ी की तरह बन गयी और अंकल उन्हे चोद्ने लगे. वो चिल्ला रही थी. इधर मे अपने बस से बाहर हो रही थी ऐसा लग रा थी की मे अंकल का लंड ले लू. पर क्या करती. अंकल मम्मी को रंडी की तरह चोद रहे थे. थोड़ी देर बाद अंकल झर गये. मेरे चूत मे से भी पानी निकल गया.

सुबह के टीन बाज चुके थे मे देखी की अंकल कपड़े पहने और मम्मी से बोले. अंकल -मज़ा आया क्या.

मम्मी-तुम्हारे लंड लेने के बाद तो जन्नत का एहसास होता है.

मम्मी -लेकिन अब तुम जाओ स्नेहा कवि भी उठ सकती है.

अंकल -तुम्हे तो कहता हू स्नेहा को भी मिला लो उसकी भी सील तोड़ दूँगा.

मम्मी -ठीक है अभी तुम जाओ. इतना सुन ने के वाद मे अपने रूम मे चली गयइ और देखी की अंकल भी चले गये. मे सुबह उठी तो सब नॉर्मल था. अब मे हर रात उठ ती और देखती की हर रात बॉस अंकल आ जाते थे.

अब मे हर दिन उनकी चुदाई देखती और अपने चूत मे उंगली डाल कर खुद को शांत कर लेती. अब मेरा भी मन करने लगा था की मे भी इस अंकल के लंड से प्यार करू पर वेट कर रही थी. एक रात मे उनकी चुदाई देख रही थी तभी अंकल ने मम्मी से कहा.

अंकल – तुम स्नेहा का सील तोड़ने का मौका कब दोगि.

मम्मी-अरे यार मेरे पास कोई प्लान नही है तुम्हारे पास है तो तुम खुद ही कर लो.

अंकल -मेरे पास एक उपाय है.

मम्मी -क्या.

अंकल -मे तुम्हारे चुदाई की वीडियो बना लेता हू और फिर स्नेहा को तुम्हारे इज़त का हवाला देकर ब्लॅकमेल करूँगा तो वो मान जाएगी.
मम्मी-अगर मान जाएगी तो ठीक है तुम ही करो. इतना सुन कर मे खुस हो गयी और अपने रूम मे चली गयी. अब मेरे लिए चुदाई का सपना सच होने वाला था.

अगले दिन शाम को अंकल घर पे आए. मम्मी किचन मे चाइ बना रही थी वो सीधा मेरे रूम मे आ गये. मे बेड बे बैठी थी तो वो बोले स्नेहा आओ तुम्हे एक वीडियो दिखता हू. इतने मे मम्मी भी आ गयइ. तो मे अंजन बनते हुए बोली कैसा वीडियो दिखाइए. वो पेन ड्राइव निकले और टीवी मे लगा दिए.

और मुझे वही बैठने को बोले. मे लेफ्ट साइड मे बैठी और अंकल बीच मे और मम्मी अंकल के राइट साइड मे. टीवी पे वीडियो चलने लगा मम्मी लंड चूस रही थी. मे पूछी ये कया है तो अंकल बोले ये तुम्हारी मम्मी मेरा लंड चूस रही है और चुड़वा भी रही है. मम्मी सर झुका कर चुप चाप बैठी थी.

तभी अंकल बोले अगर मम्मी की इज़त बचना चाहती हो तो मे जैसा कहता हू वैसा करो. मे नाटक करने लगी की अगर मे आपकी बात नही मानु तो वो बोले की ये वीडियो कल मेरे ऑफीस मे चलेगा. तो मेरी मम्मी बोली स्नेहा मान जाओ प्ल्ज़्ज़.

इतने मे अंकल मेरी नाइटी के उपर से ही दोनो बूब्स पकड़ लिया और मुझे किस करने लगे. मे थोड़ा सा विरोध का नाटक की तो उन्होने कस से गाल पे मार दिया एर बोले चुप चाप रह नी तो वीडियो सबको दिखा दूँगा. अब मे उनका साथ देने लगी.

तो अंकल मम्मी से ब्लाउस उतरने बोले. मम्मी ब्लाउस उतारी और उनका बूब्स आज़ाद हो गया तभी अंकल ने मम्मी के बूब्स मेरे मूह मे दे दिया मे उनका बूब्स चूस रही थी और अंकल मुझे किस कर रहे थे. थोड़ी देर ऐसे ही चला फिर मम्मी बोली चलो सब खाना खा लेते है. अंकल ने भी हा कर दिया और मुझे बोले की आज तो स्नेहा तुझे जन्नत का मज़ा दूँगा मे स्माइल दी और नीचे खाना लेने आई हम लोग बैठ कर खाना खाए और हॉल मे ही आ गये.

2 21

अब थोड़ी देर आराम करने जे बाद अंकल तेल लाने बोले मे तेल ले कर जैसे ही हॉल मे आई तो देखा की अंकल पुर नंगे है मे मम्मी उनके लंड को हिल्ला रही है है मे तेल उन्हे दी तो वो बोले की लगाओ. मे बोली कहा पर तो वो बोले लंड पर. मे उन के लंड का मालिस करने लगी. मे मालिस कर रही थी और अंकल मम्मी को किस और मम्मी के भी सारे कपड़े भी होने उतार दिया.

अब उन्होने मेरा बाल पकड़ा और अपना लंड चूसने लगे मे पूरी तरह गरम हो चुकी थी और बेशार्मो की तरह चूस रही थी मेरी मम्मी मेरी नाइटी उतार दी और अब मे सिर्फ़ ब्रा और पनटी मे थी तभी अंकल ने पीछे से ब्रा का हुक खोल दिया और पनटी नीचे खीच दी अब मे पूरी नंगी खड़ी थी. अंकल भी कहा आज पहले इसे ही चोद उँगा तो मम्मी बोली ठीक है.

उन्होने मुझे बेड पे लिटा दिया और मम्मी मेरी चूत मे उंगली डालने लगी मुझे दर्द हो रा था मे बोली आह दर्द हो रहा रहा है तो अंकल बोले की उंगली मे इतना दर्द तो लंड से कितना होगा.

अब अंकल अपना लंड मेरी चूत पे रख दिया और मम्मी चूत के अंदर घुसने मे मदद करने लगी. लॅंड तोड़ा सा अंदर गया तो मे उच्छल पड़ी बहुत ज़ोर से दर्द हुआ और मे चिल्लई आआहह फिर थोड़ी देर रुककर उन्होने ज़ोर से धक्का मररा. मेरी तो पूरी बॉडी सुन पर गयी. और मे चिल्लाने लगी आअहह अया आहह आहह अया. उनका पूरा लंड मेरी चूत फड़ता हुआ अंदर चला गया था.

मम्मी अपना बूब्स मेरे मूह मे दे रही थी. फिर थोड़ी देर रुक कर वो धीरे धीरे मुझे चुदाई करने लगे. धीरे धीरे दर्द कम होने लगा और मज़ा बढ़ने लगा अब उन्होने स्पीड बढ़ा दी और ज़ोर ज़ोर से चुदाई करने लगे. मे भी उछाल उछाल कर उनका साथ देने लगी. अब चूड़ने मे बहुत मज़ा आ रहा था.

करीब आधा घंटे मुझे चोदने के बाद वो झर गये और थोड़ी देर मेरे चूत मे ही लंड डाल कर मेरे ही उपर लेटे रहे.और थोड़ी देर बाद उनका लंड फिर से तन गया था उन्होने हम दोनो को लेटा दिया और एक एक कर लंड डालने लगे मे मम्मी के बूब्स दबा रही थी और उन्हे किस कर कर रही थी.

फिर अंकल ने मम्मी को उठाया और उनकी गॅंड मे लंड डाल कर चोदने लगे और मेरी चूत मे उंगली करने लगे मे फिर से गरम हो गयइ और अंकल का लंड चूसने लगी फिर मे अंकल को नीचे लेटा कर खुद उनके उपर उनके लंड पे बैठ कर उपर नीचे करने लगी.

थोड़ी देर मे मेरी चूत बे पानी छोड़ दिया लेकिन अंकल का लंड अब भी टाइट था और उन्होने मम्मी की चूत मे लंड दा कर चोदने लगे फिर सारा वीर्या मेरे बूब्स पे गिरा दिया..

और मे और मम्मी उनका पूरा लंड चाट चाट कर सॉफ कर दी और मे मम्मी के बूब्स का सारा वीर्या सॉफ कर दी और मम्मी ने मेरे बूब्स पे से सारा वीर्या. हम लोग रोज रत को सेक्स करते है